बस्तर विकास के मुद्दों को लेकर कोई भी राजनैतिक दल गंभीर नहीं – नवनीत चाँद

  • बयान बाजी सहित ढकोसलाबाजी ही कर रहे हैं राजनैतिक दल, बस्तर विकास से इनका कोई सरोकार नहीं – चाँद

जगदलपुर. बस्तर के आर्थिक संपत्ति से परिपूण होने के बाद भी यहाँ का नागरिक अपने अधिकारों व विकास के लिए तरस रहा है. यहाँ राजनैतिक रूप से गुलामी की परम्पराओं ने निवेशियों को इस तरह आबाद कर दिया है की हम आज शहीद गुंडाधुर व अन्य कई क्रांतिकारियों को भूल चुके हैं. उक्त बातें बस्तर विकास संघर्ष समिति के नवनीत चाँद ने कही.

चाँद ने बताया की राजनैतिक पार्टियों के राष्ट्रीय स्तर के विकास के स्वप्नबाद ने बस्तर के सम्पूर्ण विकास की मांगों के तले राजनैतिक महत्वाकांक्षाएं कुचल दी गयी हैं. इसलिए सभी राजनैतिक पार्टियों के लिए बस्तर के मुद्दे ज्वलंत होते हुए भी उन्हें ठन्डे बस्ते में पड़ी रहती है जिसका खामियाजा सभी बस्तरवासियों को उठाना पड़ रहा है.

उन्होंने कहा की सरकार में जो भी पार्टी आती है वह अपने हिसाब से काम कर विकास का नाम देकर जबरदस्ती योजनाओं को थोपने की कोशिश करती है. यह भी विडम्बना है की स्थानीय निवासियों को उनके अनुरूप उनके क्षेत्र में ही विकास देने में नाकामयाब होते हैं. जिसका जीता-जागता सबूत एनएमडीसी का विनिवेशीकरण है. बस्तर के विकास के लिए तैयार हो रही प्लांट का विनिवेशीकरण एक घातक सौदा है. सरकार को चाहिए की ऐसे फैसले को तुरंत वापस ले ताकि बस्तर के युवाओं सहित बस्तरवासियों को न्याय मिल सके. उन्होंने बस्तर के सभी युवाओं, विभिन्न मंचों के सदस्यों व बस्तरवासियों को आगे आकर फैसे का विरोध करने की बात कही.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *