सरकारी खज़ाना सिर्फ पूंजी पतियों के लिए ही खुलता है

बीजापुर / (शेख इस्लामुद्दीन) माओवादियों के के दक्षिण सब जोनल ब्यूरो के सचिव और मोस्ट वांटेंड नक्सल नेता गणेश उइके ने एक प्रेस नोट जारी कर प्रदेश के मुख्यमंत्री रमन सिंह और भाजपा पर तीखा हमला किया है।

माओवादी नेता का कहना है कि छत्तीसगढ़ राज्य को अस्तित्व में आए 18 साल पूरे हो रहे हैं, यह कमोवेश एक पीढ़ी का समय है। किसी राज्य की उम्र के हिसाब से यह कम समय हो सकता है, लेकिन राज्य के विकास की दिशा और दशा तय करने के लिए पर्याप्त है। इन 18 सालों में से शुरूआती तीन सालों के कांग्रेस के जन विरोधी शासन को छोड़ दे तो बाद के तीनों चुनावों में भाजपा ने जीत हासिल कर पिछले पंद्रह सालों से सत्ता में है। इन पंद्रह सालों में भाजपा ने वायदे तो बहुत किए और सस्ती लोकप्रियता की घोषणाएं भी की गई व योजनाएं भी बहुत बनाई गई, परंतु आज तक उन योजनाओं और घोषणाओं का कोई क्रियान्वयन नहीं किया गया।

नक्सल विज्ञप्ति

बल्कि जनता के आक्रोश को शांत करने के लिए एक छोटे से हिस्से को झूठन की तरह विकास के नाम पर फेंक दिया गया।

नक्सली नेता गणेश उईके द्वारा जारी प्रेस नोट में उइके ने मुख्यमंत्री पर हमला करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री का जब भी मुंह खुलता है गांव,गरीब, किसान की ही बात निकलती है, लेकिन सरकारी खजाना सिर्फ पूंजीपतियों के लिए ही खुलता रहा है। नक्सली नेता ने मुख्यमंत्री के लोकसुराज, रमन के गोठ और जनदर्शन न को मात्र जनाकर्षण का केंद्र बताते हुए कहा कि जनदर्शन में तीन बार आश्वासन मिलने के बावजूद नौकरी नहीं मिलने की वजह से मुख्यमंत्री के घर के सामने आत्मदाह करने वाले योगेश साहू का मिशाल ही काफी है रमन के वायदों और खोखलेपन को समझने के लिए।

माओवादी नेता ने आरोप लगाया है कि पोटाकेबिन, गुजर-बसर कॉलेज, एजुकेशन हब के नाम पर जनता को गुमराह कर आदिवासी छात्र-छात्राओं को पुलिस थानों व कैम्पों के नजदीक सशस्त्र बलों की सख्त निगरानी में मुखबिर बनने व पुलिस में भर्ती होने के लिए निरंतर दबाव बनाया जा रहा है।

यही नहीं बल्कि बस्तर अंचल को पुलिस छावनी में तब्दील कर हर पंद्रह नागरिकों के पीछे एक पुलिस जवान को तैनात कर राज्य में फिर से in सत्तारूढ होने के लिए भाजपा ऐढ़ी चोटी का जोर लगा रही है। मेरा बूथ सबसे मजबूत के नारे के साथ बूथ कमेटियां जबरन वोट डलवाने व फर्जी मतदान कराने की साजिश रच रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *