नीलावाया के जंगलों में नक्सली हमला

दंतेवाड़ा, 30 अक्टूबर।करीम
छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के अरनपुर के नीलावाया जंगल में हुए नक्सली मुठभेड़ में सब इंस्पेक्टर रूद्र प्रताप सिंह एवं सहायक आरक्षक मंगलूराम शहीद हो गए, जबकि दो जवानए आरक्षक विष्णु नेताम एवं सहायक आरक्षक राकेश कौशल गंभीर रूप से जख्मी हो गये हैं। वहीं दूरदर्शन के कैमरामैन अच्युतानंद साहू ही नक्सली हमले में मारे गए।
दूरदर्शन के रिपोर्टर धीरज साहू जो बाबूसराय के रहने वाले हैं। दिल्ली से अपने कैमरामैन अच्युतानंद के साथ 27 अक्टूबर को रायपुर से जगदलपुर पहुंचे। 28 अक्टूबर को जगदलपुर में उन्होंने कुछ कवरेज किया। और 29 अक्टूबर की शाम दंतेवाड़ा के लिए रवाना हुए। जिला प्रशासन ने उन्हें बताया कि पोटाली एक ऐसा गांव है जहां 20 से का बाद पहली बार वहां मतदान केन्द्र बनाया गया है। जहां के ग्रामीण वोट डालेंगे। इसके कवरेज के लिए दंतेवाड़ा से अरनपुर गए जब नीलावाया के पास पहुंचे तो उन्होंने बताया कि हम मोटरसाइकल में सवार थे, सामने के मोटर सायकल में उनका कैमरामैन अच्युतानंद बैठे हुए थे। सडक कार्य चल रहा था किनारे झाडियों में घात लगाए बैठे नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। पहली गोली कैमरामैन को लगी और उसके बाद 45 मिनट तक गोली बारी होती रही। इसी बीच वो मोटरसायकल से एक गडढे में जा गिरे। उन्होंने बताया कि उनके सिर के ऊपर से 50 से अधिक गोलियां निकली। ग्रेनाइड बम भी फटा, सांस रोके पड़े रहे। पुलिस वालों ने भी फायरिंग की इसी बीच नक्सली भाग गए।
धीरज साहू ने बताया कि पोटली ग्राम में पहली बार मतदान हो रहा था इसके प्रचार-प्रसार के लिए जा रहे थे। उन्होंने बताया कि हमने सुना था नक्सली एक प्रेस नोट जारी कर पत्रकारों से कहा था कि वे अंदरूनी क्षेत्र में बेखौफ रिपोर्टिंग कर सकते हैं, उसके बाद भी नक्सलियों ने पत्रकारों को नहीं छोड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *