मोदी ने महिला को स्वयं पहनाया चरणपादुका, आयुष्मान भारत का किया शुभारंभ

बीजापुर/जांगला. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को जिले के ग्राम जांगला में आयुष्मान भारत योजना की शुरुवात की. इस दौरान उन्होंने जिले में करोड़ों रुपयों की अन्य योजनाओं का भी शिलान्यास किया और विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से भानुप्रतापपुर में नई रेल को हरीझंडी दिखाई.

क्या है आयुष्मान भारत योजना? : आयुष्मान भारत योजना या मोदीकेयर, भारत सरकार की एक प्रस्तावित योजना हैं, 2018 के बजट सत्र में वित्त मंत्री अरूण जेटली ने इस योजना की घोषणा की। इस योजना का उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर लोगों (बीपीएल धारक) को स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराना है। इसके अन्तर्गत आने वाले प्रत्येक परिवार को 5 लाख तक का कैशरहित स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जायेगा। 10 करोड़ बीपीएल धारक इस योजना प्रत्यक्ष लाभ उठा सकेगें। इसके अलावा बाकी बची आबादी को भी भविष्य में इस योजना के अन्तर्गत लाने की योजना है.

इस दौरान मोदी ने वनधन योजना, भानुप्रतापपुर में नई रेल की शुरुवात, बीजापुर में नई डायालिसिस मशीन का शुभारंभ, नेट परियोजना की शुरुवात, अलग-अलग क्षेत्रों में 1703 करोड़ रुपये की लागत से 1882 किलोमटर सड़क निर्माण, इन्द्रावती नदी पर पुल निर्माण, मिंगाचल नदी में पुल निर्माण सहित अन्य योजनाओं का शुभारंभ किया. अपने उद्बोधन से पूर्व मोदी ने हितग्राहियों को उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन, सुनने का यंत्र, ई-रिक्शा, इमली से बीज निकालने की मशीन, और चरणपादुका योजना के तहत चरणपादुका भेंट की. इस दौरान मोदी ने महिला को स्वयं चरणपादुका पहनाया.

श्री मोदी ने कहा कि बीजापुर एक समय में पिछड़े इलाकों में आता था, लेकिन विकास की गति और केंद्र की योजनाओं के चलते आज इसका अस्तित्व अब पूरे देश में चमकने लगेगा. छत्तीसगढ़ राज्य में कभी दो ही मेडिकल कॉलेज हुआ करती थी लेकिन अब वह बढ़कर 10 हो गए हैं. उन्होंने बताया कि वे आयुष्मान योजना के पहले चरण और लोक सुराज योजना की शुरुवात करने बीजापुर आये हैं. ग्राम सुराज अभियान सम्पूर्ण देश में 5 मई तक संचालित होगा. क्षेत्र में नया कीर्तिमान बनाने के उद्देश्य से इन योजनाओं को लागू किया गया है.

उन्होंने कहा कि वर्ष 2022 तक देश के प्रत्येक ब्लाक जहाँ आदिवासी की आबादी 50 प्रतिशत से अधिक है वहाँ एक मॉडल स्कूल बनाया जायेगा. आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों के लिए एक उत्तम प्रकार का संग्रहालय बनाया जायेगा. देश के सभी खनन जिलों में अब यह नियम लागू कर दिया गया है कि खनन से हो रही आमदनी का एक हिस्सा स्थानीय आदिवासियों को मिलेगा.

इसके अलावा मोदी ने क्षेत्र के ग्रामीणों के हित में ऐतिहासिक निर्णय देते हुए कहा कि पूर्व में बांस को पेड़ों की श्रेणी में रखा गया था, जिसके चलते उसकी खेती कर पाना असंभव था. जिसे अब वन कानून में सुधार कर स्वतंत्र कर दिया गया है. अब बांस की खेती अथवा उसका किसी भी प्रकार से उपयोग किया जा सकता है. बैंक मित्र, पोस्ट ऑफिस और मुद्रा योजना के तहत बगैर बैंक गारंटी के लोन की बात भी उन्होंने कही है.

राज्य के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस दौरान कहा कि बीजापुर में सभी जाति-जनजाति के लोगों को उज्ज्वला योजना का लाभ मिलेगा. इसके अलावा बीजापुर के 6 लाख 40 हज़ार लोगों को आने वाले पांच महीनों में सौभाग्य योजना के तहत बिजली उपलब्ध हो जाएगी, किसी भी घर में अब अँधेरा नहीं होगा. स्काई योजना के तहत सभी छात्रों को स्मार्ट फ़ोन उपलब्ध कराया जायेगा और बस्तर नेट योजना के तहत मुफ्त में नेट की सुविधा भी उपलब्ध करायी जाएगी.

महिला को चप्पल पहनाते मोदी
महिला को चप्पल पहनाते मोदी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *