शराब की दुकानें शहर से हो बाहर, अन्यथा होगा आमरण अनशन – भवानी

जगदलपुर. छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के ग्रामीण युवा अध्यक्ष ने शहर में संचालित शराब की दुकानों को शहर से बाहर करने के लिए मोर्चा खोल दिया है. इस सम्बन्ध में कलेक्टर बस्तर को पार्टी ने ज्ञापन भी सौंपा है.

ग्रामीण युवा अध्यक्ष नरेन्द्र भवानी ने बताया कि शहर में मुख्यतः चार अंग्रेजी शराब और दो देशी शराब की दुकानें संचालित हैं. ये सभी दुकानें मुख्य मार्गों और चौक पर हैं, जिनके चलते जहाँ एक ओर शराब का सेवन करने वालों की भीड़ लगी रहती है और सड़कों पर जाम की स्थिति बन जाती है वहीँ दूसरी ओर महिलाओं को शाम के समय उन सड़कों पर से गुजरने की लिए भी तकलीफ का सामना करना पड़ता है. इन दुकानों के सामने महिलाओं के साथ अभद्र फब्तियां कसना और उनसे छेड़ना आम बात हो गयी है.

नरेंद्र ने बताया कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से एक बार इस सम्बन्ध में मुलाकात की गयी थी और उन्होंने इस सम्बन्ध में आश्वासन भी दिया था. इस सम्बन्ध में पूर्व कलेक्टर द्वारा भी यह कहा गया था की आपकी मांगों को मान लिया गया है और बहुत ही जल्द ये शराब की दुकानें शहर से बाहर संचालित की जाएँगी. किन्तु, आज पर्यंत तक ऐसा नहीं होने की स्थिति में पार्टी द्वारा ज्ञापन सौंपा गया है.

पार्टी द्वारा ज्ञापन के माध्यम से यह भी कहा गया है कि प्रशासन द्वारा तीन दिवस में अगर कोई ठोस निर्णय नहीं लिया जाता है तो आगामी रविवार को आमरण अनशन किया जायेगा.

ज्ञापन सौंपने के दौरान प्रदेश सचिव गौरीकान्त मिश्र, प्रकाश दीप्ति, प्रदेश युवा महासचिव रोज़विन दास, सम्भागीय युवा महासचिव बाबा जमील,  ग्रामीण जिला उपाध्यक्ष सूर्यपाल शर्मा, ग्रामीण जिला उपाध्यक्ष कबीर दास नाग, शहर जिला महासचिव तरुण सेन, बकावन्ड ब्लाक अध्यक्ष बलराम बेसरा, नगरनार ब्लाक अध्यक्ष रूपेश समरथ, नगरीय निकाय जिला महासचिव करतार भवानी सहित दर्जन भर से अधिक अन्य कार्यकर्त्ता मौजूद रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *