अव्यवस्थित युवा महोत्सव से बस्तर व पार्टी का नाम भी हो रहा ख़राब – जबिता मांडवी

  • अव्यवस्थाओं को जनप्रतिनिधियों ने भी स्वीकारा
  • अव्यवस्था इतनी की 90 फीसदी कुर्सियां खाली, कलाकारों में उत्साह की कमी

जगदलपुर. स्थानीय प्रियदर्शिनी इंदिरा स्टेडियम में चल रहे तीन दिवसीय 18वें राज्य स्तरीय युवा महोत्सव की जनप्रतिनिधियों द्वारा भी भारी उपेक्षा की जा रही है. जिला पंचायत की अध्यक्षा भी पूरे आयोजन से नाखुश हैं और उन्होंने साफ कहा है कि राजधानी से आये अधिकारी स्थानीय जनप्रतिनिधियों को कोई तवज्जो नहीं दे रहे हैं.

जिला पंचायत अध्यक्षा जबिता मांडवी ने निचोड़ को बताया कि उक्त आयोजन से वे नाखुश हैं. उनका कहना था कि आयोजनकर्ता ने प्रोटोकॉल का ध्यान बिलकुल भी नहीं रखा, साथ ही साथ अव्यवस्थाओं के बीच इस कार्यक्रम को आनन-फानन में शुरू कर दिया गया है. आयोजन से पहले किसी भी तरह की तैयारियां तक नहीं की गयी थी. दूर-दराज से आईं बच्चियां खुले में शौच करने को मजबूर है, इससे दुर्भाग्यपूर्ण बात और क्या हो सकती है. उन्होंने मुख्यतः इस बात पर नाराजगी व्यक्त की कि महिला जनप्रतिनिधि होने और जिला पंचायत की प्रथम नागरिक होने के नाते उन्हें अपनी भावनाओं को 27 जिलों से आये कलाकारों के बीच रखने नहीं दिया गया और महिला सम्मान को दरकिनार कर दिया गया. आयोजनकर्ता पूरे आयोजन को अफसरशाही के अंदाज में चला रहे हैं, जिससे पार्टी के साथ-साथ बस्तर की छवि भी धूमिल हो रही है.

उन्होंने कहा कि आयोजनकर्ताओं का मीडियाकर्मियों के साथ व्यवहार पर भी वे काफी नाराज नजर आयीं. उन्होंने कहा कि मीडियाकर्मियों को अमूमन आयोजन स्थल के सामने कुर्सियां आरिक्षित की जाती हैं ताकि कवरेज करने में कोई कठिनाई न हो, लेकिन अव्यवस्थाओं के चलते उन्हें आज जमीन पर बैठना पड़ा साथ ही मीडियाकर्मियों से बदसलूकी की बात भी सामने आई है जो की काफी निराशाजनक है.

अव्यवस्था इतनी की 90 फीसदी कुर्सियां खाली, कलाकारों में उत्साह की कमी

खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा उक्त कार्यक्रम को जितना भव्य दिखाने की कोशिश की गयी थी, शायद इसका उतना अच्छा प्रतिसाद नहीं मिल पा रहा है. उक्त कार्यक्रम में 90 फीसदी कुर्सियां खाली होने से यह चर्चा जोरों पर है की अव्यस्थाओं के चलते दर्शकों में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई पड़ रही है. इधर कुर्सियां खाली होने से दूर-दराज से आये कलाकारों के उत्साह में भी कमी दिखाई पड़ रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *