बस्तर पुलिस अधीक्षक का पत्रकारों ने किया सम्मान

  • कलम का साथ बंदूक से मिला है नक्सलवाद का खात्मा निश्चित – पुलिस अधीक्षक
  • उच्चाधिकारियों के मार्गदर्शन से बढ़ा मनोबल – पुलिस अधीक्षक
  • जनता से जुड़ने का माध्यम है पत्रकार- डीआईजी
  • साथी आरिफ शेख ने बढाया बस्तर का मान – कलेक्टर

जगदलपुर. नक्सल क्षेत्र में आमचो बस्तर आमचो पुलिस के लिए बस्तर एसपी आरिफ एच शेख को कम्युनिटी पुलिसिंग का आस्कर अवार्ड मिला है. बस्तर एसपी आरिफ शेख ने होमलैंड सिक्युरिटी कैटेगरी के लिए यह अवार्ड लेते हुए बस्तर को गौरवान्वित किया है. बस्तर में बेहतर काम करने को लेकर बस्तर के पत्रकारों ने शुक्रवार को उन्हें सम्मानित किया, स्थानीय नयापारा स्थित पत्रकार भवन में आयोजित सम्मान समारोह में बस्तर के आईजी विवेकानंद सिन्हा, डीआईजी दंतेवाडा सुंदरराज पी, बस्तर कलेक्टर धनंजय देवागंन, एसडीएम एस. आर कुर्रे भी मौजूद थे. संभागीय पत्रकारों ने इस दौरान अतिथियों को पुष्पगुच्छ देकर सम्मानित किया.

समारोह को संबोधित करते दंतेवाडा के डीआईजी सुदंरराज पी ने कहा कि पत्रकार, पुलिस और जनता को जोड़ने का काम करती है और बस्तर में पत्रकार, नक्सली समस्या को खत्म करने अहम भूमिका निभा रही है जो पुलिस का मनोबल बढाती है.

कलेक्टर बस्तर धनंजय देवागंन ने कहा की बस्तर एसपी आरिफ एच शेख ने पुलिस का सर्वोच्च अवार्ड पाकर बस्तर का नाम रौशन किया है. यह बस्तर के लिए गौरव की बात है. उन्होंने कहा कि बस्तर में काम कर रहे अधिकारियों का मनोबल पत्रकारों के कलम से बढ़ता है. निश्चित ही पत्रकार और प्रशासन के गठजोड़ से बस्तर विकास की ओर अग्रसर होगा. उन्होंने इस अवसर पर पत्रकारों को इस आयोजन के लिए बधाई भी दी.

बस्तर पुलिस अधीक्षक आरिफ एच शेख ने इस मौके पर सभी को धन्यवाद देते हुए कहा की उच्चाधिकारियों के मार्गदर्शन से ही यह संभव हो पाया की बस्तर में शांति का वातावरण कायम हो रहा है. धीरे-धीरे सम्पूर्ण बस्तर मे शांति स्थापित होगी. उन्होंने कहा कि बस्तर के कलमकारों के बदौलत ही पुलिस को सफलतायें प्राप्त होती रही हैं. उसी का नतीजा है कि पुलिस के किये गये कार्यो की खबर देश-दुनिया तक गई और बस्तर को यह अवार्ड प्राप्त हो सका. श्री शेख ने कहा की आईएसीपी अवार्ड उच्चाधिकारियों के कुशल मार्गदर्शन से ही बस्तर को प्राप्त हुआ है.

बस्तर पुलिस महानिरिक्षिक विवेकानंद सिन्हा ने सम्मान समारोह में संभागीय पत्रकार संघ को बधाई देते हुए कहा की पुलिस अधिकारी का सम्मान कर एक स्वच्छ और नई परंपरा की शुरुवात हुई है. जनता के साथ पुलिस का सामंजस्य स्थापित करने में पत्रकार ही मध्यस्थता करता है और उन्ही के बदौलत ही जनता सीधे पुलिस से जुड़ रही है, जिसका नतीजा ही है कि क्षेत्र की जनता पुलिस के और करीब आई है और नक्सलवाद बेकफूट पर है.

संघ के अध्यक्ष एस करीमुद्दीन ने समारोह मे कहा कि बस्तर के पुलिस अधीक्षक को यह सम्मान मिलना बड़ी गौरव की बात है. समस्त बस्तरवासियों मे एक उर्जा का संचार हुआ है. उन्होंने कहा कि बस्तर के पत्रकार विकास के साथ काम करते आये हैं और आगे भी करते रहेगें.

समारोह में संघ के महासचिव सतीश तिवारी ने सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया. सभी पत्रकारों ने इस अवसर बस्तर एसपी आरिफ एच शेख को अवार्ड के लिए बधाईयां दी.

विदित हो कि छत्तीसगढ़ को विगत दो सालों से यह एवार्ड मिल रहा है और एसपी आरिफ शेख ही इसे ले रहे हैं. 2016 में जब वे बालोद एसपी थे तब भी यह एवार्ड उन्होंने ही लिया था. दरअसल आरिफ एच शेख की कप्तानी की सोच हमेशा ही कुछ अलग करने की रहती है. बस्तर में पदस्थापना के बाद उन्होंने सामाजिक पुलिसिंग को बल देते हुए अधीनस्थ स्टाफ को निर्देश व मार्गदर्शन दिया. इसी बीच दरभा पुलिस माओवाद से ग्रसित कोलेंग इलाके की सर्चिंग में गई और वहां पुलिस को देख नाबालिग बच्चे भागने लगे. पुलिस उन्हें पकड़कर साथ ले आई. एसपी को इस घटना की जानकारी मिली और वे स्वयं दरभा गए और बच्चों से लम्बी चर्चा में मालूम हुआ कि नक्सली उन्हें गांव की हर दिशा में खड़ा रहने को कहते हैं और पुलिस के आने पर तुरन्त खबर देने की उनकी सख्त हिदायत रहती है. उनसे कभीकभार कपड़े बर्तन भी धुलवाते हैं. स्कूल भी जाने नहीं देते, तब आरिफ साहेब ने उन्हें दरभा पुलिस के संरक्षण में उनकी पूरी जिम्मेदारी उठाने, स्कूल में दाखिल कर उनके रहन-सहन व पढ़ाई का खर्च विभाग द्वारा वहां करवाने के निर्देश दिए थे. आज ये बच्चे वापस अपने घर नहीं जाना चाहते और पुलिस की हिफाजत में अपना भविष्य गढ़ रहे हैं. पुलिस की इसी सामाजिकता की वजह से प्रदेश के साथ बस्तर को भी इंटरनेशनल एवार्ड का गौरव प्राप्त हुआ है.

इस अवसर पर संघ भवन पहुंचे बस्तर के आईजी, कलेक्टर, डीआईजी और एसपी ने भवन का निरिक्षण भी किया.  इस मौके पर संघ अध्यक्ष एस करीमउददीन, महासचिव सतीष तिवारी, सचिव राजेश दास, धर्मेन्द्र महापात्र, कोषाध्यक्ष संजीव पचौरी, उपाध्यक्ष नरेश कुशवाह, अनिल सामंत, राजेन्द्र बाजपेयी, सुधीर जैन, राकेश पांडे, सुब्बा राव, अनुराग शुक्ल, रजत बाजपेयी, संतोष वर्मा, रवि दूबे, विनय पाठक, देवशरण तिवारी, गिरीश शर्मा, नरेन्द्र दुबे, एस. के हसन राजा, श्रीनिवास नायडू, रवि राज पटनायक, प्रशांत गजभिये, प्रदीप गुहा, श्रीनिवास रथ, रमेश थापक, संजय जैन, महेन्द्र विश्वकर्मा, बादशाह खान, जिवानंद हलधर, गजेन्द्र ठाकुर, अजय पचौरी, आशुतोष तिवारी, करमजीत कौर, अविनाश प्रसाद, साजिद हुसैन, योगेश पाणिग्राही, संतोष तिवारी, राजा साव सहित बड़ी संख्या मे पत्रकारगण मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *