जवानों ने 200 नक्सलियों को घेरने लांच किया ऑपरेशन, तीन टीमों ने की इलाके की घेराबंदी

नीलमडगु के जंगल में डीव्हीसी रेंक के नक्सलियों पर भी भारी पड़े जवान

48 घंटे के ऑपरेशन के बाद एक नक्सली ढेर व हथियार बरामद

बीजापुर।फरसेगढ थाना क्षेत्र में सुरक्षाबल के संयुक्त जवानों ने 48 घंटे के ऑपरेशन के बाद एक वर्दीधारी नक्सली को मार गिराने में कामयाबी पाई है।मौके से नक्सली शव के साथ एक रायफल और बड़ी संख्या में नक्सलीयों के साजो सामान बरामद की गई है।

पुलिस को सुचना थी कि नीलमडगु के जंगलों में करीब 200 नक्सलियों का जमावड़ा है। यहाँ डीव्हीसी रेंक के नक्सली की भी मौजूदगी है। इस सुचना के बाद फरसेगढ में डीएफ, डीआरजी व एसटीएफ की संयुक्त टीम ने ऑपरेशन लांच किया। जवानों ने नक्सलियों की घेराबंदी के लिए तीन टीमें बनाई। 24 तारीख को ऑपरेशन लांच किया गया। फरसेगढ से करीब 20 किलो मीटर दूर नीलमडगु के घने जंगलों में सुरक्षाबल के जवानों ने ऑपरेशन चलाया।रविवार को 4 बजे के करीब जवानों की नक्सलियों से मुठभेड़ हो गई। घंटे भर मुठभेड़ चलने के बाद नक्सली ज्यादा देर टिक नहीं सके और मौके से भाग खड़े हुए। घटना स्थल की सर्चिंग में सुरक्षाबल के जवानों ने एक वर्दीधारी नक्सली का शव एक थ्री नॉट थ्री सहित बड़ी संख्या में नक्सलीयों के साजो सामान बरामद की है। मुठभेड़ में गोली लगने से एक आरक्षक सुखराम गोटा घायल हो गया है। उसे हेलीकाप्टर से रायपुर रिफर किया गया है।एडिशन एसपी दिव्यांग पटेल ने बताया कि नक्सलियों के दल में डीव्हीसी रेंक के नक्सली भी शामिल थे।उन्होंने बताया कि मारा गया नक्सली नीलमडगु इलाके से होने की जानकारी मिली है। लेकिन विधिवत रूप से उसकी शिनाख्त नहीं हो सकी है।

इधर रविवार को हुई दूसरी घटना में गंगालूर थाना क्षेत्र के पुसनार मुठभेड़ में मारे गए नक्सली की भी पहचान अब तक नहीं हो सकी है। पुलिस ने मुठभेड़ के बाद यहाँ से एक भरमार एक 12 बोर और 3 किलो वजनी जिन्दा बम बरामद किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *