जेएनयू के खिलाफ एफआईआर करने ग्रामीणों ने थाने का घेराव कर किया चक्काजाम !

जगदलपुर: बस्तर जिले के कोमाकोलेंग व नामा गांव के ग्रामीणों ने आज भारी संख्या में दरभा थाने के समक्ष पहुंचकर थाने का घेराव किया और एनएच 30 पर चक्का जाम करते हुए जेएनयू के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की.

इसके 2 दिन पूर्व ग्रामीणों ने कलेक्टर बस्तर को लिखित में शिकायत की थी कि मंगलवार को दिल्ली से जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के तीन प्रोफेसर बस्तर के कुम्माकोलेंग और नामा गांव पहुंचे थे. वहां उन्होंने उन पर सरकार के खिलाफ लड़ाई लडऩे और माओवादियों का साथ देने के लिए उकसाया और धमकाया था.

इधर घोर माओवाद प्रभावित कुमाकोलेंग, नामा और सौतवार के लोगों ने दरभा थाने में शिकायत की है कुछ लोग दिल्ली के जेएनयू से उनके गांव आए थे. इनका कहना था, यदि तुम लोग (गांववाले) माओवादियों की मदद नहीं करोगे तो जानमाल से हाथ धो बैठोगे. पुलिस गांव के भीतर कैम्प लगाएगी तो बहू-बेटियों की इज्जत खराब करेगी, इसलिए माओवादी जैसा बोलते हैं, वैसा करो, इससे गांव का भला होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *